भारत देश में स्त्री को देवी का दर्जा दिया जाता है. हिंदू धर्म में लोग नारी को देवी का रूप मानते हैं. अगर महिला न हो तो दुनिया से इंसानों का वजूद मिट जाएगा. लेकिन आज के इस कलयुग में महिलाओं की स्थिति बहुत ख़राब है. आज भी लोग लड़की होने को किसी अभिशाप से कम नहीं समझते. यह बात जानते हुए कि एक महिला ही संसार की मूल सुत्रधारक होती है इसके बावजूद लोग उसकी इज्ज़त नहीं करते. लेकिन यह कहना गलत नहीं होगा कि कुछ हद तक महिलाओं के बारे में लोगों की अवधारणा ज़रूर बदली है. लेकिन अभी भी कुछ पिछड़े गांव ऐसे हैं जहां पर लड़कियों के पैदा होने पर मातम मनाया जाता है. लेकिन शायद उन लोगों को पता नहीं कि आज के युग में महिलाएं पुरुषों से किसी मामले में पीछे नहीं हैं. वह पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रही हैं. उन्हें शायद यह बात नहीं पता कि बेटा एक बार को आपको ठुकरा सकता है लेकिन बेटियां ही होती हैं जो आपको अपने साथ हमेशा रखती हैं. यह बात बिलकुल सच है कि बेटियां शादी के बाद भी बेटियां ही रहती हैं पर एक बेटा शादी के बाद पति बन जाता है. लड़की के जन्म होने पर लोग कहते हैं कि बधाई हो आपके घर में लक्ष्मी आई है. पर क्या वह लोग सच में इस बात को मानते हैं?

नवरात्री में भी लड़कियों की पूजा लोग मां दुर्गा का स्वरुप मानकर करते हैं. शादी करने के बाद लड़की जब ससुराल जाती है तब भी लोग यहीं कहते हैं कि घर में लक्ष्मी आई है. इसलिए शादी के बाद ससुराल में बहू का आगमन बहुत हर्षोउल्लास और रीति रिवाज़ के साथ किया जाता है. इसके अलावा लोगों का यह भी मानना होता है कि एक स्त्री प्यार, त्याग और ममता की मूरत होती है. वह अपने से पहले हमेशा दूसरों के बारे में सोचती है. एक स्त्री को प्यार और सम्मान देने पर आपको उसका दोगुना प्यार और सम्मान मिलता है. जिन घरों में स्त्री को मान-सम्मान और इज्ज़त के साथ रखा जाता है उन घरों में हमेशा खुशियां बरक़रार रहती हैं. लेकिन जिन घरों में महिलाओं का सम्मान नहीं होता और उनका अपमान किया जाता है उन घरों से खुशियां कोसों दूर चली जाती हैं.

यह भी माना जाता है कि स्त्री के जीवन में आने से पुरुषों का जीवन बिलकुल बदल जाता है. महिलाएं ही परिवार को एक नाज़ुक डोर से बांधे रखती हैं. शायद यही कारण है कि स्त्री को घर की इज्ज़त कहा जाता है. इन्हीं बातों को ध्यान रखते हुए आजकल एक विडियो बहुत तेज़ी से वायरल हो रहा है. इस विडियो में बताया गया है कि स्त्रियों में उनके गुणों के साथ-साथ उनके शरीर के अंगों का भी बहुत महत्वपूर्ण स्थान होता है. स्त्री के बहुत सारे अंग ऐसे होते हैं जो पवित्रता के प्रतीक माने जाते हैं. इसलिए महिलाओं को हमेशा सम्मान देना चाहिए और यह उनका हक़ भी है. विडियो से जानिए कि महिलाओं के शरीर का कौन सा भाग सबसे पवित्र माना जाता है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here